समर्थक

शुक्रवार, 20 दिसंबर 2013

परियों के देश में...

अपूर्वा अपने स्कूल के एक फंक्शन में नन्ही परी बनीं। छोटे-छोटे पंख, गुलाबी रंगत और मासूम चेहरा।.... इनके स्कूल में सभी को भाया। हमको तो भाना ही था। अब तो अपूर्वा भी कहती हैं, ''मैं तो परियों के देश में घूमने जाऊँगी।" नन्हे मन की ऊँची उड़ान।






मिलिए हमारी नन्ही परी अपूर्वा से ....! 
Lets meet with our sweet Angel Apurva...!!

(चित्र : 13 दिसंबर, 2013)




कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें