समर्थक

रविवार, 17 नवंबर 2013

राजकीय पब्लिक लाइब्रेरी, इलाहाबाद में अपूर्वा


आजकल की पीढ़ी हर कुछ नेट पर ही खंगालना चाहती है. गूगल ने लोगों काफी सहूलियत प्रदान कर दी है. ऐसे में इस पीढ़ी को भी लाइब्रेरी-कल्चर से जोड़े रखने की जरुरत है. राजकीय पब्लिक लाइब्रेरी, इलाहाबाद में बिटिया अपूर्वा।

1 टिप्पणी: